कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा अमन -शान्ति में विघ्न डालने की कोशिशें करने वाली देश विरोधी ताकतों को सख्त प्रताडऩा

CAPT AMARINDER WARNS ANTI-NATIONAL FORCES AGAINST ATTEMPT TO DESTROY PEACE share via Whatsapp

CAPT AMARINDER WARNS ANTI-NATIONAL FORCES AGAINST ATTEMPT TO DESTROY PEACE



73वां स्वतंत्रता दिवस

इंडिया न्यूज सेंटर,जालंधर:
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज देश की अमन -शान्ति और सदभावना को आघात लगाने की कोशिश करने वाली ताकतों को सख्त चेतावनी दी और लोगों को ऐसी शक्तियों को मुँह तोड़ जवाब देने के लिए एकजुट होने का न्योता दिया है। आज 73वें स्वतंत्रता दिवस के मौके राज्य स्तरीय समागम के दौरान राष्ट्रीय झंडा लहराने के बाद गुरू गोबिन्द सिंह स्टेडियम में जलसे को संबोधन करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ देश विरोधी ताकतें हैं जिनको राज्य के विकास और शांतमयी माहौल से ईष्र्या है। उन्होंने कहा, ‘‘आओ, एक मज़बूत और ख़ुशहाल पंजाब के निर्माण और प्यार, शान्ति और एकता की जड़ों को और मजबूत करने के लिए सांझे तौर पर काम करने प्रति हम अपने आप को समर्पित करें। राष्ट्रीय आज़ादी संघर्ष में पंजाबियों केे लामिसाल योगदान का जि़क्र करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि यह हम सभी का सांझा फज़ऱ् बनता है कि हम अथाह बलिदानों के द्वारा बहुत संघर्ष करके हासिल की आज़ादी को कायम रखें। बीते दिन जंग-ए -आज़ादी यादगार के तीसरे पड़ाव का उद्घाटन करने के लिए किये दौरे को याद करते हुये कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि यह यादगार भारतीय आज़ादी संघर्ष के विभिन्न पहलूओं संबंधी नौजवानों केक दरमियान जागरूकता फैलाने के लिए बहुत सहायक सिद्ध होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व, महात्मा गांधी जी के 150वें जन्म दिवस और जलियांवाला बाग़ के ख़ूनी नरसंहार के 100 वर्ष मुकम्मल होने के मद्देनजऱ वर्ष 2019 एक ऐतिहासिक है जिसको पूरे जोश से और उत्साह के साथ मनाया जा रहा है। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने बीते दिन उन्रकी तरफ से जालंधर जिले में 145 करोड़ रुपए की लागत वाले विभिन्न विकास पर बुनियादी ढांचे के प्रोजेक्टों और कपूरथला जिले में 132 करोड़ रुपए की लागत वाले विभिन्न प्रोजेक्टों को समर्पित करने या शुरू करवाने को याद करते हुये कहा कि इससे दोनों जिलों के विकास को और बढ़ावा मिलेगा। मुख्यमंत्री ने उनके कैबिनेट साथियों द्वारा बीते दिन राज्य भर में विकास प्रोजेक्टों के किये उद्घाटनों का भी जि़क्र किया। नशों के विरुद्ध शुरु की जंग का जि़क्र करते हुये मुख्यमंत्री ने बताया कि अब तक एन.डी.पी.एस. एक्ट के अंतर्गत 27,744 केस दर्ज किये गए हैं और 33,622 व्यक्तियों को गिरफतार किया गया है। इसके अलावा 767 किलो हेरोइन की बरामदगी और बड़ी मात्रा में और भी नशीले पदार्थ पकड़े गए हैं। उन्होंने बताया कि राज्य में नशों की गिरफ्त में फंसे 87000 व्यक्तियों का इलाज 178 ओट (ओ.ओ.ए.टी) क्लिनिकों में किया जा रहा है। किसानों के कल्याण के लिए उठाये गए कदमों का जि़क्र करते हुये मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य सरकार खेत मज़दूरों और ज़मीन के बिना किसानों जो प्राथमिक कृषि सहकारी सभाओं के मैंबर हैं, को 520 करोड़ रुपए मुहैया करवाने पर विचार कर रही है। कजऱ् राहत स्कीम के अंतर्गत अब तक 5.62 लाख सीमांत और छोटे किसानों को उनके लगभग 4700 करोड़ रुपए के फ़सली कजऱ्े का निपटारा करके राहत दी जा चुकी है। उन्होंने यह भी बताया कि साल 2017 से लेकर अब तक गेहूँ और धान की फसलों की बिक्री से किसानों को 1.24 लाख करोड़ की कमाई हुई है जिससे पिछली सरकार के इन खरीद सीजऩों के दौरान ही किसानों को हुई कमाई की अपेक्षा 30,000 करोड़ रुपए की वृद्धि दर्ज की गयी है। इससे उनकी सरकार के सत्ता में आने से लेकर किसानों की आय में 32 प्रतिशत का विस्तार हुआ है। शिक्षा के क्षेत्र की बात करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ सालों में यह पहली बार हुआ है कि सरकारी स्कूलों ने प्राईवेट स्कूलों की अपेक्षा अच्छी कारगुज़ारी दिखाई है जिसके अंतर्गत 10वीं कक्षा की समूचे तौर पर पास प्रतिशत में 8.7 प्रतिशत और 12वीं कक्षा में 4.45 प्रतिशत का विस्तार दर्ज किया गया। उन्होंने बताया कि 30 करोड़ रुपए ख़र्च कर 261 स्मार्ट स्कूल स्थापित किये गए हैं जो शैक्षिक तौर पर पिछड़े सभी 217 ब्लॉकों को कवर करते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि कॉर्पोरेट सामाजिक जि़म्मेदारी /ग़ैर-सरकारी संस्थाओं /एन.आर.आईज़ /चैरिटेबल संस्थाओं और व्यक्तिगत तौर पर दान देने वालों के सहयोग से लगभग 4000 प्राथमिक, माध्यमिक और हाई स्कूलों को स्मार्ट स्कूलों में बदल दिया गया। मुख्यमंत्री ने ऐलान किया कि राज्य सरकार 9 सितम्बर से 30 सितम्बर तक पाँचवाँ विशाल रोजग़ार मेला विभिन्न स्थानों पर लगाऐगी। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि इन मेलों के दौरान बेरोजगार नौजवानों को 2 लाख नौकरियों की पेशकश करने के अलावा एक लाख नौजवानों को अपना कारोबार शुरू करने के लिए सहयोग दिया जायेगा। राज्य सरकार के प्रमुख प्रोगराम ‘घर घर रोजग़ार स्कीम ’ के अंतर्गत मार्च, 2017 से लेकर अब तक 9 लाख से अधिक नौजवानों को प्राईवेट या सरकारी सैकटरों में रोजग़ार दिलाने या अपना कारोबार शुरू करने के लिए राज्य सरकार ने सुविधा मुहैया करवाई। लगभग 6 लाख नौजवानों को स्वै- रोजग़ार के लिए सहयोग दिया और प्राईवेट सैक्टर में 2.60 लाख नौजवानों को रोजग़ार दिलाने में मदद की और 40 हज़ार नौजवानों को सरकारी नौकरियाँ दी।

मुख्यमंत्री ने ऐलान किया कि डिजिटल पंजाब उपराले के अंतर्गत नौजवानों को जल्द ही स्मार्ट मोबाइल फ़ोन मुहैया करवा कर मतदान में किया गया वादा पूरा किया जायेगा। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व सम्बन्धित लोगों को राज्य के कुल 12,700 गाँवों में से हरेक गाँव में 550 पौधे लाने की अपील की। उन्होंने कहा कि अब तक 3500 गाँवों में 40 लाख पौधे लगाऐ जा चुके हैं जिससे हमारा राज्य साफ़ सुथरा, हरा भरा और प्रदूषण मुक्त हो। उद्योग को फिर पैरों पर खड़ा करने के लिए उठाये गये कदमों के बारे में बताते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि नयी औद्योगिक नीति को बहुत समर्थन मिला है और इसके साथ 50,000 करोड़ रुपए का निवेश राज्य में आने के लिए रास्ता साफ हुआ है। ग्रामीण विकास को औ बढ़ावा देते हुये मुख्यमंत्री ने बताया कि स्मार्ट गाँव मुहिंम के अंतर्गत 680 करोड़ रुपए का प्रोग्राम बनाया गया है जिसका मकसद गाँवों के सर्वपक्षीय विकास को यकीनी बनाना है और इस राशि में से पहली किश्त के अंतर्गत 198 करोड़ रुपए जारी किये जा चुके हैं। अनुसूचित जातियों और पिछड़ी श्रेणियों की भलाई को अपनी सरकार की प्राथिकमता बताते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि अनुसूचित जातियों, गरीबी रेखा से निचले परिवारों और पिछड़ी श्रेणियों को 200 यूनिट बिजली मुफ़्त दी जा रही है। इसी तरह उनकी सरकार ने सामाजिक सुरक्षा पैंशन 500 रुपए से बढ़ा कर 750 रुपए प्रति महीना की है जिससे 1600 करोड़ रुपए का सालाना खर्चा आया है। इसके अलावा आशीर्वाद स्कीम के अंतर्गत वित्तीय सहायता 15,000 रुपए से बढ़ा कर 21,000 रुपए की गई। महात्मा गांधी सरबत विकास योजना के अंतर्गत शिनाख़्त किये 12.17 लाख व्यक्तियों में से 9.28 लाख व्यक्तियों को बनती राहत और लाभ मुहैया करवाई जा चुकी है। इससे पहले आई.टी.बी.पी, पंजाब पुलिस (महिला और पुरुष), राजस्थान पुलिस, चण्डीगढ़ पुलिस, गार्डियनज़ ऑफ गवर्नेंस, पंजाब होम गारडज़, एन.सी.सी. और पी.ए.पी पाईप एंड ब्रास बैंड, 6सिख लाई और सी.आर.पी.एफ के पाईप बैंड की टुकड़ी ने परेड कमांडर गुरशेर सिंह के नेतृत्व में प्रभावशाली मार्च के पास्ट से मुख्यमंत्री ने सलामी ली। इस मौके पर 10 झलकियाँ भी निकाली गई जिन्रमें श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित हरेक गाँव में 550 पौधे लाने की मुहिम और जंगलात विभाग द्वारा चलाई जा रही घर घर हरियाली मुहिम को मूर्तिमान किया गया है। इसी तरह शिक्षा विभाग की ‘पढ़ो पंजाब पढ़ाओ पंजाब ’, सेहत विभाग की सरबत सेहत बीमा योजना, ए.डी.सी विकास और जि़ला रोजग़ार के उद्योग ब्यूरो द्वारा घर -घर रोजग़ार स्कीम और महात्मा गांधी सरबत विकास योजना, जि़ला पुलिस प्रमुख ग्रामीण द्वारा नशा विरोधी मुहिम, ए.डी.सी. विकास और डी.डी.पी.ओ की तरफ से मनरेगा और स्मार्ट गाँव मुहिम, पावरकॉम और सहकारिता विभाग द्वारा पानी बचाओ, पैसा कमाओ और कजऱ् राहत स्कीम, कृषि, बाग़बानी और पशु धन विभाग द्वारा भी झलक निकाली गई। इसी तरह जि़ला प्रोग्राम अफ़सर द्वारा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ, स्मार्ट सिटी के सी.ई.ओ और नगर निगम के कमिशनर की तरफ से शहरी वातावरण सुधार प्रोग्राम की झलक निकाली गई। इससे पहले रंगारंग प्रोग्राम में हुई शानदार सरगर्मियों में पंजाब पुलिस के प्रदर्शन के अलावा पी.टी. शो, स्कूल और कॉलेजों के विद्यार्थियों ने गिद्दा, भंगड़ा और अन्य रिवायती लोक नाच पेश करके दर्शकों का मन मोह  लिया हैं। मुख्यमंत्री ने तीन आज़ादी संग्रामियों प्रेम सागर, देव ब्रत शर्मा और जवाहर लाल का सम्मान किया और इसके अलावा जरूरतमंद महिलाओं को सिलाई मशीनें और दिव्यांग व्यक्तियों को ट्राई साइकिल बाँटे। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने घर-घर रोजग़ार स्कीम के अंतर्गत प्राईवेट सैक्टर में नौकरियाँ हासिल करने वाले पाँच नौजवानों गुरप्रीत पाल सिंह, चरनप्रीत कौर, जस्मीन सिंह, मनदीप और अमरजीत को नियुक्ति पत्र भी सौंपे। इस मौके पर संसद मैंबर चौधरी संतोख सिंह, मुख्यमंत्री के सीनियर सलाहकार लैफ्टिनैंट जनरल (सेवा मुक्त) टी.एस. शेरगिल्ल, विधायक प्रगट सिंह, सुशील रिंकू, चौधरी सुरिन्दर सिंह, रजिन्दर बेरी, बावा हेनरी और हरदेव सिंह लाडी, मुख्य सचिव करन अवतार सिंह, डी.जी.पी दिनकर गुप्ता, पूर्व संसद मैंबर महिन्दर सिंह के.पी., मुख्यमंत्री के विशेष प्रमुख सचिव गुरकिरत कृपाल सिंह, ए.डी.जी.पी ईश्वर सिंह, जालंधर डिविजऩ के कमिशनर बी. पुरशार्था, डिप्टी कमिशनर वरिन्दर कुमार शर्मा, पुलिस कमिशनर गुरप्रीत सिंह भुल्लर, जि़ला पुलिस प्रमुख नवजोत सिंह माहल, सांस्कृतिक मामलों संबंधी विभाग के डायरैक्टर एम.एस. जग्गी, नगर निगम के कमिशनर दिपरवा लाकड़ा, मेयर जगदीश राज राजा, नगर सुधार ट्रस्ट के चेयरमैन दलजीत सिंह आहलूवालीया और मुख्यमंत्री के ओ.एस.डी गुरप्रीत सिंह सोनू ढेसी उपस्थित थे।

CAPT AMARINDER WARNS ANTI-NATIONAL FORCES AGAINST ATTEMPT TO DESTROY PEACE
OJSS Best website company in jalandhar OJSS Best website company in jalandhar
India News Centre

India News Centre

India News Centre

India News Centre

India News Centre

India News Centre

India News Centre

India News Centre

India News Centre

India News Centre

India News Centre

India News Centre

Source: INDIA NEWS CENTRE

Leave a comment






11

Latest post