दोआबा कालेज को मिली एक और सफलता, जिले का पहला कम्युनिटी रेडियो राबता 90.8 MHz लांच

Another success of Doaba College, District's first Community Radio 90.8 MHz launch share via Whatsapp

रेडियो राबता जिले में 15 किलोमीटर में सुनाई पड़ेगा


इंडिया न्यूज सेंटर,जालन्धरः
दोआबा कालेज के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के नाम एक और सफलता हासिल हुई है। कालेज ने जिले में सबसे पहला कम्युनिटी रेडियो लांच किया है। राबता 90.8 MHz के नाम से दोआबा कालेज में कम्युनिटी रेडियो का आगाज मंगलवार को हुआ। जालन्धर जिले की शिक्षण संस्थाओं में एक नई पहल करते हुए कम्युनिटी रेडियो ‘राबता 90.8 MHz’ को विधिवत रूप से शहर को समर्पित किया गया। कालेज के प्रिंसीपल डा. नरेश कुमार धीमान ने आज प्रैस क्लब में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि कि कम्युनिटी रेडियो राबता जालन्धर जिले के अधीन पड़ते 15 किलोमीटर के शहरी एवं ग्रामीण तबके तक पहुंच करेगा।

केंद्र सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अधीन है

यह कम्युनिटी रेडियो केंद्र सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अधीन स्थापित किया गया है, जो कि सभ्याचारक विभिन्नताओं को मद्देनजर रखते हुए ज्यादा से ज्यादा क्षेत्रीय जनसमूह तक पहुंचने का लक्ष्य रखा गया है। रेडियो राबता विभिन्न व्यवसायों के साथ जुड़े हुए लोगों द्वारा आम लोगों के लिए ही समाजिक विकास के मकसद के साथ चलाया जाएगा जिसके तहत इस रेडियो के प्रोग्राम सेहत, शिक्षा, खेल एवं सभ्याचार पर अधारित होंगे। विभागाध्यक्षा डा. सिमरण सिद्धू ने बताया कि कम्युनिटी रेडियो राबता – रेडियो स्टेशन की बेहतर परफारमेंस के लिए ‘कम्युनिटी रेडियो फैस्लिटेशन सैंटर’ की अगुवाई के अन्दर एक विशिष्ट रेडियो स्टूडियो, ट्रांसमिशन स्टुडियो और तीस मीटर की ऊंचाई वाला टावर कालेज में स्थापित किया गया। उन्होंने कहा कि इस कम्युनिटी रेडियो के द्वारा विभाग के विद्यार्थियों को रेडियो स्टेशन, सक्रिप्ट राइटिंग, रिकार्डिंग, वाइस ओवर एडिटिंग तथा ट्रांसमिशन की ट्रेनिंग मिलेगी जिससे उन्हें बहुत लाभ होगा।

 कम्युनिटी रेडियो की जागरूकता जानने हेतू एक सर्वे करवाया गया
डा. सिमरन सिद्धू ने कहा कि कालेज के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग द्वारा जालन्धर जिले के शहरी एवं ग्रामीण इलाकों के साथ सम्बन्धित लोगों में कम्युनिटी रेडियो की जागरूकता जानने हेतू एक सर्वे करवाया गया। जिससे प्राप्त नतीजों के अनुसार सिर्फ 3 प्रतिशत लोगों के उत्तर मिले जो कि उक्त रेडियो के बारे में जानते थे। इस शोध के दौरान लोगों से पूछे गए सवालों के दौरान प्राप्त आंकड़ों के अनुसार 73 फीसदी शहरी और 62 फीसदी ग्रामीण जनसंख्या इस बात में विश्वास रखती है कि कम्युनिटी रेडियो समाज के विकास में बहुत सहायक होगा।

पंजाबी का प्रथामिकता होगी
इस खोज में ज्यादातर औरतों ने औरतों के हक, नशे की समस्या, राजनीति और शिक्षा से सम्बन्धित प्रोग्रामों में भाग लेने की इच्छा जाहिर की। कुछ उत्तरदाता ऐसे भी थे जो सरकार की नीतियों तथा स्कीमों पर कम्युनिटी रेडियों के द्वारा विचार एवं चर्चा करवाना चाहते हैं। उन्होंने बताया कि इन प्रोग्रामों की पेशकारी के दौरान इस बात का विशेष ध्यान रखा जाएगा कि अधिक से अधिक प्रोग्राम राज्य भाषा पंजाबी में पेश किए जाएं परन्तु साथ ही साथ कुछ प्रोग्राम हिन्दी एवं अंग्रेजी भाषा में भी पेश किए जाएंगे।

प्रोग्राम विभिन्न फार्मैट्स के अन्तर्गत बनाए जाएंगे

शुरुआती तीन महीनों के दौरान प्रोग्राम विभिन्न फार्मैट्स के अन्तर्गत बनाए जाएंगे जैसे कि रेडियो टॉक, इन्ट्रव्यू, कहानी, ड्रामा, विचार-चर्चा आदि पर अधारित रिकार्डिड प्रोग्राम दिन में दो घण्टे सवेरे 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक पेश किए जाएंगे। इन प्रोग्रामों के अलावा 80 के दशक के पहले के गीत, अध्यात्मक और देशभक्ति के गीत भी चलाए जाएंगे। उपरोक्त प्रोग्रामों को पेश करने के लिए एक विशेष कार्यक्रम तैयार किया गया है जिसके अनुसार जिनकी शुरुआत शब्द-भजन पर अधारित प्रोग्राम ‘सिमर सिमर सुख पाओ’, इसके बाद सेहत सम्बन्धी प्रोग्राम तन्दरुस्त सेहत पेश किया जाएगा। रेडियो राबता में सिर्फ पढ़े लिखे या बायोपिक ही नहीं पेश किए जाएंगे बल्कि मेहनत करने वाले मजदूरों एवं किसानों पर आधारित प्रोग्राम ‘मैं मजदूर बोलदा हां’ और ‘खुशहाल किसान’ आदि भी पेश किए जाएंगे।

विशेष प्रोग्राम ‘मांवां ते धीयां’

इसके अलावा सभ्याचारक एवं नैतिक मूल्यों को एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक पहुंचाने हेतू विशेष प्रोग्राम ‘मांवां ते धीयां’ और ‘उमरां दीयां तरकालां’ भी पेश किया जाएगा। डा. सिमरन ने बात जारी रखते हुए बताया कि तीन महीने के समय के बाद समुदाय रेडियो राबता से लाइव प्रोग्राम चलाए जाएंगे साथ ही ‘लाइव फोन इन’ प्रोग्राम भी पेश किया जाएगा। इसके साथ ही विद्यार्थी, किसान और खेती बाड़ी के विशेषज्ञ तथा गैर सरकारी संगठनों को भी प्रोग्राम के जरिए समुदाय रेडियो के साथ जोड़ा जाएगा। इस मौके पर डा. सिमरण सिद्धू, प्रो. प्रिया चोपड़ा, प्रो. सुप्रिया, प्रो. संत सिंह, प्रो. सुहेल प्रताप, प्रो. गुरप्रीत व प्रो. रमनदीप उपस्थित थे।

Another success of Doaba College, District's first Community Radio 90.8 MHz launch
Source: INDIA NEWS CENTRE

Leave a comment





10
11

Latest post