पंजाब पुलिस ने दो ख़तरनाक तस्करों को किया गिरफ़्तार

PUNJAB POLICE BUST PAK-BACKED DRUG SMUGGLING RACKET WITH ARREST OF TWO NOTORIOUS SMUGGLERS share via Whatsapp

PUNJAB POLICE BUST PAK-BACKED  DRUG SMUGGLING RACKET WITH ARREST OF TWO NOTORIOUS SMUGGLERS

 13 KG CONTRABAND SEIZED FROM DUO IN A JOINT OPERATION WITH THE BSF, HUNT LAUNCHED FOR THEIR 3RD ACCOMPLICE

पुलिस ने पाकिस्तान से समर्थन प्राप्त नशा तस्करी के रैकेट का पर्दाफाश

बी.एस.एफ. के साथ किए गए साझे ऑपरेशन में दोनों तस्करों से 13 किलो हेरोइन की खेप बरामद, तीसरे साथी की गिरफ़्तारी के लिए छापेमारी जारी

इंडिया न्यूज सेंटर,चंडीगढ़ :
एक ख़ुफिय़ा ऑपरेशन में पंजाब पुलिस ने शुक्रवार को तरन तारन के खेमकरन सैक्टर में अंतरराष्ट्रीय सरहद के पास से पाकिस्तान से समर्थन प्राप्त दो नशा तस्करों को गिरफ़्तार  किया है। जिनकी निशानदेही से 13 किलो हेरोइन की खेप बरामद की गई। उनके तीसरे साथी की गिरफ़्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

यह जानकारी देते हुए डीजीपी पंजाब दिनकर गुप्ता ने बताया कि ज़ोरा सिंह और उसके साथी रणजीत सिंह उर्फ राणा सिंह, जो कि राज्य भर में ड्रग सिंडीकेट्ज़ और स्पलायरों को खेप पहुँचाने की योजना बना रहे थे, की गिरफ़्तारी के साथ पंजाब में ऑपरेट कर रहे नशा तस्करों और उनके पाकिस्तानी हैंडलरों के बीच की गई सांठ-गाँठ उजागर हुई है।

यह सारी कार्यवाही ध्रूमन निम्बले, एसएसपी तरन तारन के नेतृत्व वाली टीम द्वारा की गई, जिसमें एसपी / नार्कोटिक्स, डीएसपी / भिखीविंड, इंचार्ज नार्कोटिक्स, एसएचओ खेमकरन और एसएचओ सराए अमानत ख़ान मैंबर थे। इस केस में एन.डी.पी.एस. एक्ट की धारा 21,29 के अंतर्गत एफआईआर नं. 141 तारीख़ 24-09-2020 पुलिस थाना खेमकरन में दर्ज की गई है।

उन्होंने कहा कि तरन तारन पुलिस को ज़ोरा सिंह पुत्र बगीचा सिंह निवासी महद्दीपुर, पुलिस थाना खेमकरन संबंधी विशेष जानकारी मिली थी, जिसके बाद उसकी गतिविधियों पर नजऱ रखी गई। उसको अगस्त 2019 में संदिग्ध गतिविधियों के लिए अंतरराष्ट्रीय सरहद के नज़दीक सुरक्षा एजेंसियों ने गिरफ़्तार भी किया था, जो अब मार्च 2020 से ज़मानत पर है। उसके खि़लाफ़ पहले ही नशा तस्करी के लिए चार मुकद्दमे दर्ज हैं, जिसमें उसके पास से भारी मात्रा में नशीले पदार्थ बरामद हुए थे। उसने आमदन के बिना किसी कानूनी स्रोतों से कई जायदादें भी बनाईं थीं।

गुप्ता ने बताया कि प्राथमिक पड़ताल से पता लगा है कि ज़ोरा सिंह अपने दो साथी पवनदीप सिंह और रणजीत सिंह उर्फ राणा सिंह के साथ मिलकर पाकिस्तान आधारित तस्करों के संपर्क में था और बीओपी / रत्तोके, बीएसएफ (थाना खेमकरन) के क्षेत्र में से पाकिस्तान के पास से एक हेरोइन की खेप खरीदने की कोशिश कर रहा था। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय सरहद पर गाँव रत्तोके, थाना खेमकरन के नज़दीक भी चैकिंग की थी।

जांच के दौरान रणजीत सिंह उर्फ राणा सिंह निवासी हवेलियाँ, थाना सराए अमानत ख़ान (तरन तारन) ने कबूल किया कि उसने हेरोइन की खेप की सुपुर्दगी हासिल की थी, जो पाकिस्तान से बीओपी रत्तोके क्षेत्र में पहुंचनी थी। बीएसएफ के साथ तुरंत संपर्क करके उनका सहयोग लिया गया और भारत-पाक सरहद की ज़ीरो लाईन से लगभग 50 मीटर की दूरी पर हेरोइन की बरामदगी की गई।

रणजीत सिंह उर्फ राणा सिंह पुत्र हरनाम निवासी सराए अमानत ख़ान के खि़लाफ़ तीन एफआईआरज़ दर्ज हैं और वह 14-10-2014 से ज़मानत पर रिहा था। पवनदीप सिंह पुत्र सुरिन्दर सिंह निवासी सिधवां, थाना खालड़ा के खि़लाफ़ नशों की तस्करी में शामिल होने के कारण पहले ही दो एफआईआरज़ दर्ज हैं और वह 20-02-2018 से ज़मानत पर रिहा था।

PUNJAB POLICE BUST PAK-BACKED DRUG SMUGGLING RACKET WITH ARREST OF TWO NOTORIOUS SMUGGLERS
OJSS Best website company in jalandhar
Source: INDIA NEWS CENTRE

Leave a comment






11

Latest post