रेलवे बोर्ड के एडिशनल मेम्बर, कामर्शियल ने अवांछित घटना की निगरानी” विषय पर रेल अधिकारियों से की ऑनलाइन बैठक

Additional member, Railway Board, Commercial, online meeting of railway officials on the subject of "Unwanted incident monitoring" share via Whatsapp

Additional member, Railway Board, Commercial, online meeting of railway officials on the subject of "Unwanted incident monitoring"


बैठक का मुख्य विषयः R.P.F व G.R.P के बीच बेहतर तालमेल के साथ दावों का गहनता से जांच के बाद जल्दी से निबटारा हो

इंडिया न्यूज सेंटर,जालंधरः रेलवे में बढ़ती अवांछित घटना को लेकर रेलवे गंभीर हो गया है। रेल मंत्रालय ने बकायदा बुधवार को ऑनलाइन बैठक करके रेलवे अधिकारियों होने वाली अवांछित घटनाओं के दावों की गहनता से जांच के बाद जल्दी से निबटारा किया जा सके। इस बैठक की अध्यक्षता करते हुए रेलवे बोर्ड के एडिशनल मेम्बर, कामर्शियल मुकेश निगम ने अधिकारियों को बताया कि अवांछित घटना की जाँच किस प्रकार करनी चाहिए जिससे इस सम्बन्ध में दावा को कम किया जा सके। उन्होंने अनेक उदाहरण प्रस्तुत करते हुए बताया कि प्रायः किस तरह का दावा अवांछित घटना के सम्बन्ध में प्रस्तुत किया जाता है और इसे किस प्रकार दूर किया जाये इसके बारे में भी विस्तारपूर्वक बताया है।

फिरोजपुर डिवीजन के मंडल रेल प्रबंधक  राजेश अग्रवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि बुधवार को एडिशनल मेम्बर, कमर्शियल, रेलवे बोर्ड, दिल्ली मुकेश निगम की अध्यक्षता में एक ऑनलाइन बैठक का आयोजन किया गया। यह बैठक “अवांछित घटना की निगरानी” विषय पर आयोजित की गयी थी। इस बैठक में सम्पूर्ण भारतीय रेलवे के जोनल स्तर पर अपर महाप्रबंधक, मुख्य वाणिज्य प्रबंधक/ दावा तथा मंडल स्तर पर अपर मंडल रेल प्रबंधक,  वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त तथा वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक शामिल हुए | अपर मंडल रेल प्रबंधक बलबीर सिंह, वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त रजनीश कुमार त्रिपाठी तथा वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक  चेतन तनेजा ने इस बैठक में भाग लिया।

 बैठक का मुख्य उद्देश्य
इस बैठक का मुख्य विषय था कि रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (आरपीएफ) तथा गवर्नमेंट रेलवे पुलिस (जीआरपी) के बीच बेहतर तालमेल बनाते हुए रेलवे के दावों का गहन जाँच कर उनका तीव्रता से निपटारण हो सकें। एडिशनल मेम्बर ने विस्तृत रूप से बताया कि अवांछित घटना की जाँच किस प्रकार करनी चाहिए जिससे इस सम्बन्ध में दावा को कम किया जा सके। उन्होंने अनेक उदाहरण प्रस्तुत करते हुए बताया कि प्रायः किस तरह का दावा अवांछित घटना के सम्बन्ध में प्रस्तुत किया जाता है और इसे किस प्रकार दूर किया जाये इसके बारे में भी विस्तारपूर्वक बताया है।

Additional member, Railway Board, Commercial, online meeting of railway officials on the subject of "Unwanted incident monitoring"
OJSS Best website company in jalandhar
Source: INDIA NEWS CENTRE

Leave a comment






11

Latest post