हरियाणाः मुख्यमंत्री ने 56315 नये बीपीएल कार्ड पंचकूला से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से लाभपात्रों को किये वितरित

Haryana: Chief Minister distributed 56315 new BPL cards to beneficiaries through video conferencing from Panchkula share via Whatsapp

Haryana: Chief Minister distributed 56315 new BPL cards to beneficiaries through video conferencing from Panchkula

हरियाणा सरकार का बीपीएल कार्ड के फर्जीवाड़ा पर बड़ा प्रहार

चण्डीगढ़ः
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की प्रदेश के लोगों को सूचना प्रोद्यौगिकी का अधिक उपयोग कर पारदर्शी तरीके से ऑन लाईन सेवायें देने की कड़ी में आज एक ओर अध्याय जुड़ गया है। जब उन्होंने बीपीएल कार्ड के नाम पर फर्जीवाड़ा पर बड़ा प्रहार करते हुए बीपीएल कार्ड के लिये ऑन लाईन आवेदन प्रक्रिया आरंभ करने की घोषणा की है। साथ उन्होंने 56315 नये बीपीएल कार्ड भी पंचकूला से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से लाभपात्रों को वितरित किये। मुख्यमंत्री ने यह घोषणा आज रेड बिशप पंचकूला में नये बीपीएल राशन कार्ड वितरण के राज्य स्तरीय समारोह में उपस्थित लाभपात्रों को संबोधित करते हुए की। उन्होनें कहा कि बीपीएल कार्ड के ऑन लाईन आवेदन की यह प्रक्रिया निरंतर जारी रहेगी और अब इसके लिये किसी विशेष सर्वे की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश का प्रत्येक ऐसा परिवार जिसकी मासिक आय 15 हजार रुपये तक है वह बीपीएल कार्ड के लिये पात्र माना जायेगा, पहले यह सीमा 10 हजार रुपये मासिक थी। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकारों के कार्यकाल में अपात्र लोगों को बीपीएल सूची में शामिल किया जाता था लेकिन वर्तमान सरकार ने पारदर्शी तरीके से 56000 नये लाभपात्रों को यह कार्ड उपलब्ध करवायें है। उन्होंने कहा कि पंचकूला में 527 नये लाभपात्र की सूचि में शामिल हो गये है और प्रदेश के कई ऐसे विधानसभा क्षेत्र है, जिनमें 1500 से लेकर 2000 नये लाभपात्रों की सूचि में शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अब से पूर्व 10 लाख 60 हजार बीपीएल और डब्लएवाई राशन कार्ड धारक थे और 56 हजार नये लाभपात्र जुडऩे से अब ऐसे परिवारों की संख्या 11 लाख 16 हजार हो गई है। मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि बदलते समय में परिवारों की परिस्थितियां भी बदलती रहती है। कुछ लोग जो पहले गरीबी रेखा की सूचि में शामिल थे, उनमें से कई परिवारों का जीवन स्तर सुधरा होगा और कुछ ऐसे परिवार जो पहले इस योजना के दायरें में शामिल नहीं हो सकते है, बदल परिस्थितियों में वे इसके लाभपात्र हो सकते है। उन्होंने कहा कि लोगों द्वारा जिला स्तर पर अतिरिक्त उपायुक्त कार्यालयों में लोगों द्वारा बीपीएल कार्ड के लिये आवेदन किया गया है और लगभग 1.40 लाख आवेदन लंबित है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि ऐसे लंबित आवेदनों के ऑन लाईन की प्रक्रिया को तुरंत जारी करें। उन्होंने कहा कि बीपीएल परिवारों को विभिन्न योजनाओं में प्राथमिकता के साथ साथ दैनिक उपयोग का सामान सस्ते दामों पर दिया जाता है। इनमें कुछ योजनाएं केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही है और कुछ योजनाओं प्रदेश स्तर पर लागू की गई है। उन्होंने कहा कि ऐसे राशन धारकों को गेहूं, चावल, चीनी और सरसों का तेल सस्तें दामों पर उपलब्ध करवाया जाता है। इस सामान में से सरसों का तेल केवल हरियाणा सरकार द्वारा प्रत्येक परिवार को दो लीटर, 20 रुपये प्रति लीटर की दर से दिया जाता है जबकि इसका बाजार मूल्य 116 रुपये प्रति लीटर है। शेष राशि राज्य सरकार वहन करती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में परिवार पहचान पत्र बनाने की प्रक्रिया चल रही है और यह प्रक्रिया पूरी होने से प्रत्येक परिवार का यूनिक आईडी नंबर जनरेट होगा, जिससे योजनाओं का लाभ लेने में और अधिक पारदर्शिता आयेगी। उन्होंने कहा कि इस सुविधा से विभिन्न योजनाओं के निर्धारण तथा सही लाभपात्रों तक योजना का लाभ पंहुचाने में सहयोग मिलेगा। इसी प्रकार राज्य सरकार शीघ्र ही मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना भी लागू करने जा रही है, जिसमें प्रत्येक जरूरतमंद परिवार के लिये आर्थिक सहायता का प्रावधान रहेगा। उन्होंने खडक, मंगोली, बरवाला और कालका सहित पंचकूला जिला के अन्य गांवों से संबंधित 37 लाभपात्रों को नये बीपीएल राशन कार्ड वितरित किये। उन्होंने वीडियों कांफ्रेंस के माध्यम से राज्य के अन्य जिलों को नये लाभपात्रों को मुबारकबाद भी दी। उन्होंने प्रदेशवासियों से यह अनुरोध किया कि जिन साधन संपन्न व्यक्तियों के नाम बीपीएल सूची में है, उन्हें स्वैच्छा से अपने नाम हटवा लेने चाहिए ताकि वास्तविक गरीब व्यक्ति को योजनाओं का लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के आग्रह पर देश के एक करोड से अधिक लोगों ने एलपीजी सब्सीडी स्वैच्छा से छोडऩे की पहल की थी, जिससें उज्जवला स्कीम के तहत करोड़ों गरीबों को गैस सिलेंडर दिये जा सके। इस अवसर मुख्यमंत्री ने फरीदाबाद के सेक्टर 78 में बनाये जा रहे विज्ञान भवन के मॉडल का अवलोकन भी किया। फरीदाबाद के मंडल आयुक्त डी सुरेश ने मुख्यमंत्री को प्रस्तावित विज्ञान भवन के बारे जानकारी भी दी।

Haryana: Chief Minister distributed 56315 new BPL cards to beneficiaries through video conferencing from Panchkula
OJSS Best website company in jalandhar OJSS Best website company in jalandhar
Source: INDIA NEWS CENTRE

Leave a comment






11

Latest post