सुशांत सिंह राजपूत के साथ रहने वाले 3 लोगों के ब्यान पुलिस ने किए दर्ज, पुलिस के पहुंचने से पहले ही उतार ली गई ‌थी बॉडी

Police registered the details of three people living with Sushant Singh Rajput share via Whatsapp

Police registered the details of three people living with Sushant Singh Rajput

पुलिस को बताया सुसाइड का कारण

न्यूज डेस्क: सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput ) आत्महत्या वाले दिन की पूरी कहानी सामने आ गई है। पुलिस ने उनके साथ रहने वाले तीनों का बयान दर्ज कर लिया है।
चश्मदीद सेफ का बयान भी दर्ज हो गया है
सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड इन्वेस्टिगेशन जारी है। पुलिस ने मौके पर मौजूद लोगों का बयान दर्ज कर लिया है। पुलिस के मुताबिक मुम्बई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह को 2 बजे के करीब कॉल आई। जिसके बाद मुम्बई पुलिस कमिश्नर ने डीसीपी अभिषेक त्रिमुखे और बांद्रा पुलिस स्टाफ को सुशांत सिंह राजपूत के घर भेजा।
पुलिस के पहुंचने से पहले ही नीचे उतार ली गई ‌थी बॉडी
पुलिस के मुताबिक जब पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां पर घर मे तीन लोग मौजूद थे। साथ ही सुशांत सिंह राजपूत की बहन भी वहां मौजूद थी और इन लोगों ने सुशांत सिंह राजपूत की डेडबॉडी को पहले ही नीचे उतार लिया था। पुलिस ने इस मामले में घर में मौजूद सुशांत सिंह राजपूत के सेफ, उनके क्रिएटिव मैनेजर और मैनेजर के बयान दर्ज कर लिए है।
दर्ज हो गए हैं तीन लोगों के बयान
अब तक दर्ज किए गए बयान में सुशांत सिंह राजपूत के क्रिएटिव मैनेजर और मैनेजर ने बताया कि सुशांत सिंह राजपूत डिप्रेशन में थे। लेकिन वो दवाएं नहीं ले रहे थे और न ही मेडिटेशन कर रहे थे। कमरे में मौजूद सुशांत सिंह राजपूत के ये क्रिएटिव मैनेजर और मैनेजर लॉकडाउन के बाद से ही सुशांत सिंह राजपूत के अपार्टमेंट में ही साथ मे रहते थे। रविवार तड़के सुबह 6 बजे के करीब रोज की तरह ही सुशांत सिंह राजपूत उठे. 9:30 बजे के करीब अनार जूस पीने के बाद अपने कमरे में चले गए।
लोगों को लग रहा था सोए हैं सुशांत
11:30 के करीब सेफ ने दरवाजा खटखटाया ताकि दोपहर के खाने का मेनू लिया जा सके। लेकिन दरवाजा नहीं खुला. ऐसे में सभी को लगा कि शायद सुशांत सोए हुए है। लेकिन जब 1 बजे तक अंदर से दरवाजा नहीं खुला तब घर मे मौजूद सेफ, क्रिएटिव  मैनेजर ने दरवाजे पर जोर से आवाजे लगाना शुरु किया और तेजी से दरवाजा खटखटाना शुरू किया। बाद में इन लोगों ने सुशांत सिंह राजपूत की गोरेगांव में स्थित बहन को भी फोन करके बुला लिया। इसके बाद चाबीवाले की मदद से जब दरवाजा खोला गया तो सुशांत सिंह राजपूत की लाश पंखे से लटकी पड़ी थी। जिसे इन लोगों ने नीचे उतारा।
नहीं खुल पाया है मोबाइल फोन
सुशांत सिंह राजपूत के फोन को जब्त कर लिया गया है। हालांकि कोड लॉक की वजह से उसे खोला नहीं जा सका है। पुलिस के मुताबिक अब तक की इन्वेस्टिगेशन में उन्हें किसी फाउल प्ले के एविडेन्स नहीं मिले है।

Police registered the details of three people living with Sushant Singh Rajput
OJSS Best website company in jalandhar
Source: INDIA NEWS CENTRE

Leave a comment






11

Latest post