उत्तर प्रदेश बार कौंसिंल की अध्यक्ष सुश्री दरवेश सिंह की गोली मारकर हत्या,हमलावर वकील ने खुद को भी गोली मारी

Darveesh Singh, president of UP Bar Council, shot dead, assault lawyer shot himself share via Whatsapp


Darveesh Singh, president of UP Bar Council, shot dead, assault lawyer shot himself



इंडिया न्यूज सेंटर,आगराः 
उत्तर प्रदेश बार कौंसिल की नवनिर्वाचित अध्यक्ष सुश्री दरवेश सिंह की बुधवार को आगरा के न्यू आगरा स्थित  दीवानी परिसर में उसके साथी वकील मनीष शर्मा ने गोली मार कर हत्या कर दी। पुलिस अधीक्षक (सिटी) प्रशांत वर्मा ने यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि दीवानी कचहरी परिसर में 35 वर्षीय सुश्री दरवेश सिंह के उत्तर प्रदेश बार काउंसिल की अध्यक्ष चुने जाने की खुशी में उसके साथी अधिवक्ताओं द्वारा स्वागत समारोह आयोजन किया गया था।  वकीलों ने विजय जुलूस निकाला और दोपहर दो बजे के बाद खुशियां मनाकर लौटने के बाद सुश्री यादव अधिवक्ता अरविंद मिश्रा के चैंबर में बैठी हुई थी। एडवोकेट मनीष शर्मा यूपी बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश सिंह के पास पहुंचे। उन्होंने एक के बाद एक तीन राउंड फायरिंग की, दरवेश वहीं गिर गईं। इसके बाद एडवोकेट मनीष शर्मा ने खुद को भी गोली मार ली। फायरिंग से दीवानी परिसर में अफरा-तफरी फैल गई। दरवेश को तत्काल पुष्पांजलि अस्पताल ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इधर, मनीष शर्मा को लोटस अस्पताल में उपचार के लिए ले जाया गया। उन्होंने बताया कि मनीष शर्मा की हालत गंभीर देखते हुए डाक्ट्ररों ने उसे बाद में मेदांता अस्पताल भेज दिया गया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश बार काउंसिल के चुनाव में अध्यक्ष पद का चुनाव जीतकर सुश्री दरवेश यादव ने वकीलों की राजनीति में एक बड़ा मुकाम बनाया था। दो दिन पहले ही उत्तर प्रदेश बार काउंसिल की वह अध्यक्ष निर्वाचित हुई थीं। यूपी बार काउंसिल के इतिहास में वह पहली महिला अध्यक्ष बनी थीं। काउंसिल के प्रयागराज में हुए चुनाव में दरवेश यादव और हरिशंकर सिंह को बराबर 12-12 वोट मिले। दरवेश यादव के नाम एक रिकॉर्ड यह भी था कि बार काउंसिल के 24 सदस्यों में वह अकेली महिला थीं। बार चुनाव मैदान में कुल 298 प्रत्याशी थे। दरवेश सिंह मूल रूप से एटा की रहने वाली थीं। रिटायर्ड पुलिस क्षेत्राधिकारी रामेश्वर की बड़ी पुत्री दरवेश वर्ष 2016 में बार काउंसिल की उपाध्यक्ष और 2017 में कार्यकारी अध्यक्ष भी चुनी गई थीं। वह पहली बार 2012 में सदस्य पद पर विजयी हुई थीं। तभी से बार काउंसिल में सक्रिय रहीं। उन्होंने आगरा कॉलेज से विधि स्नातक की डिग्री हासिल की। डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय (आगरा विश्वविद्यालय) से एलएलएम किया। उन्होंने 2004 में वकालत शुरू की।

दीवानी परिसर में हुई हत्या के बाद बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने यूपी बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव की हत्या की निंदा की। उन्होंने अपने सदस्यों के लिए सुरक्षा की मांग की है। यूपी सरकार से उनके परिवार को 50 लाख रुपये का मुआवजा दिलाए जाने की मांग भी उठाई गई है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव की हत्या को दुखद बताते हुए गहरा शोक व्यक्त किया

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा में उत्तर प्रदेश बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव की हत्या को दुखद बताते हुए गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने आगरा के जिलाधिकारी को तत्काल घटना के कारणों की जांच करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को प्रभावी विवेचना सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए हैं। मुख्यमंत्री ने न्याय एवं विधायी मंत्री बृजेश पाठक को मौके पर जाने को कहा है।



अवध बार एसोसिएशन ने आपातकालीन बैठक में लिया फैसला

बार काउंसिल की नव निर्वाचित अध्यक्ष दरवेश यादव की आगरा सिविल कोर्ट परिसर में हत्या करे जाने के विरोध में अवध बार एसोसिएशन के सदस्य गुरुवार को न्यायिक कार्य नहीं करेंगे। घटना के बाद बुलाई गई आकस्मिक बैठक में वकीलों की सुरक्षा के मुद्दे पर खास चर्चा हुई। अवध बार एसोसिएशन के संयुक्त सचिव ऋषभ त्रिपाठी ने बताया कि आगरा सिविल कोर्ट में दोपहर में हुई इस सनसनीखेज वारदात की जानकारी होने के बाद एसोसिएशन के अध्यक्ष आनंद मणि त्रिपाठी की अध्यक्षता में बैठक बुलाई गई। इसमें घटना की निंदा की गई और यह तय किया गया कि इसके विरोध में एसोसिएशन के सभी सदस्य गुरुवार को न्यायिक कार्य नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि इस घटना से अधिवक्ता समाज में खासा रोष है। बताया गया कि एसोसिएशन ने राज्य सरकार से मांग की है कि बार काउंसिल के पदाधिकारियों व सभी बार एसोसिएशनों के अध्यक्षों को सरकारी सुरक्षा प्रदान की जाए। यह भी मांग की गई कि राज्य सरकार अधिवक्ता सुरक्षा अधिनियम को जल्द प्राविधानित करे और अधिवक्ता समाज की सुरक्षा की व्यापक व्यवस्था की जाए।

Darveesh Singh, president of UP Bar Council, shot dead, assault lawyer shot himself

OJSS Best website company in jalandhar
India News Centre

Source: INDIA NEWS CENTRE

Leave a comment








11

Latest post