मुख्यमंत्री द्वारा सरहद पार से नशे और हथियारों की तस्करी रोकने के लिए एंटी-ड्रोन प्रौद्यौगिकी विकसित करने पर जोर

PUNJAB CM BATS FOR DEVELOPING INDIGENOUS ANTI-DRONE TECHNOLOGY FOR CHECKING THE SUPPLY OF DRUGS AND WEAPONS FROM ACROSS THE BORDER share via Whatsapp

PUNJAB CM BATS FOR DEVELOPING INDIGENOUS ANTI-DRONE TECHNOLOGY FOR CHECKING THE SUPPLY OF DRUGS AND WEAPONS FROM ACROSS THE BORDER


 VOWS TO RESTORE PRISTINE GLORY OF STATE


 INAUGURATES FIRST DRONE HUB AT THE CHANDIGARH UNIVERSITY CAMPUS


राज्य की शान बहाल करने का प्रण


चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के कैंपस में पंजाब के पहले ड्रोन ट्रेनिंग हब का उद्घाटन


इंडिया न्यूज सेंटर,एस.ए.एस. नगर, (मोहालीः पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने पड़ोसी देश से नशे और हथियारों की ड्रोनों के द्वारा होती तस्करी की चुनौती से निपटने के लिए राज्य में एंटी ड्रोन प्रणाली विकसित करने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया।

आज यहाँ चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में पंजाब के पहले ड्रोन ट्रेनिंग हब का उद्घाटन करने के बाद यूनिवर्सिटी के कैंपस में विद्यार्थियों को संबोधन करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब एक सरहदी राज्य होने के कारण ड्रोन प्रौद्यौगिकी को अधिक से अधिक विकसित करने की ज़रूरत है। क्योंकि पड़ोसी देश ड्रोनों के द्वारा हमारे सरहदी इलाकों में नशों और हथियारों की तस्करी करता है जिस कारण हमारे पास ड्रोन ट्रेकिंग जैसी प्रौद्यौगिकी भी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रौद्यौगिकी ने दुनिया को एक सांसारिक गाँव में बदल दिया है और मौजूदा समय में उभर रही चुनौतियों से निपटने के लिए प्रौद्यौगिकी में खोज और सुधार होते रहने चाहिएं।

बेरोजगारी को सभी बीमारिओं की जड़ बताते हुए मुख्यमंत्री ने बाहरी देशों में प्रवास कर रहे नौजवानों को पंजाब में ही रोज़गार के बेहतर मौके प्रदान करने का वायदा किया। भगवंत मान ने कहा कि पंजाब के नौजवान बहुत प्रतिभाशाली हैं परन्तु पिछली सरकारों की तरफ से रोज़गार के मौके पैदा न करने के कारण मजबूरन उनको बेगाने देशों में रोज़गार तलाशने पड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि बेरोजगारी की गंभीर समस्या भी नशों की बीमारी के लिए ज़िम्मेदार है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार राज्य में निवेश करने के लिए जल्दी ही नये उद्योग और देश-विदेश की नामी कंपनियों तक पहुँच करेगी जिससे हमारे किसी भी हुनरमंद बच्चे को रोज़गार के लिए अपनी मातृ-भूमि न छोड़नी पड़े।

पंजाब को फिर रंगला पंजाब बनाने के लिए अपनी वचनबद्धता को दोहराते हुए भगवंत मान ने कहा कि इतिहास में पंजाब को कई बार उतार-चढ़ाव देखने पड़े हैं और भविष्य में भी पंजाब की सरदारी पहले की तरह कायम करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘पंजाब के लोगों ने हमें हमारे अन्दाजे से भी बड़ा जनादेश दिया है जिस कारण उनको हम से बहुत बड़ी उम्मीदें भी हैं और मैं वायदा करता हूं कि हम आपकी आशाओं -उम्मीदों पर खरा उतरने तक चैन से नहीं बैठेंगे।’’

 

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के विद्यार्थियों का सम्मान भी किया। इस दौरान यूनिवर्सिटी के चांसलर सतनाम सिंह संधू ने मुख्यमंत्री का यूनिवर्सिटी आने पर स्वागत किया। इस मौके पर हलका चमकौर साहिब से विधायक डॉ. चरनजीत सिंह के इलावा डिप्टी कमिशनर अमित तलवाड़, डी.आई. जी. गुरप्रीत सिंह भुल्लर, एस.एस.पी. विवेक शील सोनी और अन्य सिविल और पुलिस प्रशासन के अधिकारी उपस्थित थे।

PUNJAB CM BATS FOR DEVELOPING INDIGENOUS ANTI-DRONE TECHNOLOGY FOR CHECKING THE SUPPLY OF DRUGS AND WEAPONS FROM ACROSS THE BORDER

OJSS Best website company in jalandhar
India News Centre

India News Centre

India News Centre

India News Centre

India News Centre

Source: INDIA NEWS CENTRE

Leave a comment








11

Latest post