बंगाल पुलिस का इस्लामीकरण करने की योजना शुरू, देश का फिर से बंटवारा होना तय ये हम नहीं कह रहे... डॉ अंबेडकर ने कहा था

We are not saying that the plan to Islamize the Bengal Police is set to be re-partitioned. Dr. Ambedkar said share via Whatsapp

We are not saying that the plan to Islamize the Bengal Police is set to be re-partitioned. Dr. Ambedkar said

 

 

नेशनल न्यूज डेस्कः देश में पश्चिम बंगाल पुलिस रिकरूटमेंट बोर्ड की एक लिस्ट वायरल है जिसमें बड़ी संख्या में मुसलमानों को सब इंस्पेक्टर का पद दे दिया गया है। ये लिस्ट एकदम सही है और आप बंगाल पुलिस की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर इसे चेक भी कर सकते हैं।

 

सबसे गंभीर बात ये है कि मुसमलानों को ये लाभ ओबीसी ए कैटेगरी में दिया गया है। दरअसल संविधान के हिसाब से सिर्फ हिंदू ओबीसी को ही आरक्षण दिए जाने का प्रावधान है। लेकिन गलत तरीके से और कानून को तोड़मरोड़ कर ममता राज में मुसलमानों को ओबीसी कैटेगरी में डालकर असंवैधानिक फायदा करवाया जा रहा है। 

 

और सबसे बड़ी बात है कि पश्चिम बंगाल में हिंदू ओबीसी जातियों का हक मुसमलानों को खुल्ले आम दिया जा रहा है। और पूरे भारत में लालू और मुलायम की पार्टी जो पिछड़ों के हितों की बात करती हैं आज खामोशी अख्तियार कर चुकी हैं। 

 

जब साल 2019 में आर्थिक आधार पर जनरल कैटेगरी में आरक्षण का कानून बना था तो नाराज होकर समाजवादी पार्टी के नेता राम गोपाल यादव ने कहा था कि ओबीसी कैटेगरी के आरक्षण को बढाकर 60-65 प्रतिशत तक कर दिया जाए। लेकिन अब जब पश्चिम बंगाल में हिंदू ओबीसी का हक मुसलमान मार रहा है तो इन सब नेताओं के मुंह में पूरा दही जम चुका है। 

 

पश्चिम बंगाल में अभी ओबीसी हिंदुओं की रोटी को छीन लिया गया है। अब जिसके पास रोटी होगी उसकी पास बेटी भी होगी... क्योंकि ये मुल सिद्धांत है कि हर कोई अपनी बेटी को सुखी परिवार में ही ब्याहना चाहता है। यानी आगे अब ओबीसी हिंदुओं की बेटियां भी मुसलमान ही छीन लेंगे... और तब ये ओबीसी हिंदू बीजेपी को वोट देंगे लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी होगी। बंगाल में दलित अब बीजेपी को वोट दे रहे हैं लेकिन अब शायद बहुत देर हो चुकी है बंगाल का चुनाव ये दिखाता है कि अगर किसी सूबे में 30 प्रतिशत मुसलमान हो जाएं तो 15 से 20 प्रतिशत गद्दार और लालची हिंदुओं की मदद से बहुत आराम से मुसलमान सत्ता पर काबिज हो जाएंगे और इसके बाद बहुत तेजी से इस्लामीकरण की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

 

खैर ताजा मामला उस लिस्ट का है.... जो वायरल है... डॉ अंबेडकर ने अपनी किताब भारत का विभाजन अथवा पाकिस्तान में एक चैप्टर सिर्फ इस बात पर ही लिखा है कि कैसे भारत की सेना में मुसलमानों की बड़ी संख्या की वजह से भारत पर बंटवारे का खतरा गहराता चला गया।

 

डॉ अंबेडकर ने पूरे आंकड़े निकालकर ये बताया था कि भारत की सेना में सन 1940 के आसपास कितने मुसलमान सैनिक थे। मुसलमान सैनिकों का प्रतिशत तब भारत की सेना में 40 प्रतिशत से ज्यादा हो चुका था। डॉ अंबेडकर ने अपनी उसी किताब में ये भी लिखा है कि अगर अफगानिस्तान के मुसलमान भारत पर हमला कर दें तो भारत के मुसलमान अपने अफगानी मुसलमान भाइयों के साथ मिलकर भारत के काफिरों का कत्ल शुरू कर देंगे।

 

इसी आधार पर डॉ अंबेडकर ने ये लिखा था कि चुंकि भारत की सेना में बहुत ज्यादा मुसलमान हो चुके हैं। इसलिए मुसलमानों के पास ये सैन्य शक्ति आ चुकी है कि वो आसानी से विद्रोह करके पाकिस्तान हासिल कर सकते हैं और इसी वजह से पाकिस्तान का निर्माण टाला नहीं जा सका।

 

अब आज के भारत पर गौर कीजिए... मुसलमान लगातार भारत रोजगार के तमाम क्षेत्रों में घुसपैठ करते चले जा रहे हैं.... सेना में भर्ती नहीं हो पा रहे हैं लेकिन मेहंदी लगाने से लेकर जिम के ट्रेनर तक हिंदू महिलाओं के संग का लाभ वो लगातार उठा रहे हैं, जिससे लव जिहाद की घटनाएं हो रही हैं। और वो अपने मकसद को भली भांति पूरा कर रहे हैं । टीचिंग और कोचिंग मे भी वो लगातार बहुत तेजी से अपने पैर जमाते चले जा रहे हैं और यहां उनकी नजरें छात्राओं पर होती हैं । इसके अलावा वो सारे काम जो पहले भारत के हिंदुओं के हाथ में थे... जैसे बाल काटना... सब्जी फल वगैरह के धंधे पर तो उनका कब्जा काफी हद तक हो ही चुका है। अब कथित अफसरों वाली नौकरी में भी उनका प्रतिशत लगातार बढ़ता चला जा रहा है। 

 

कुल मिलाकर... आज की स्थिति ये है कि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी ने जिस तरह मुसमलानों की एंट्री पुलिस में करवाई है उससे पश्चिम बंगाल की सुरक्षा व्यवस्था और एकता अखंडता पर गंभीर संकट पैदा हो गया है। वो पीड़ित हिंदू जो थाने के बाहर भी पीटा जा रहा है अब थाने के अंदर फरियाद भी नहीं कर पाएगा वहां भी मुसलमान सब इंस्पेक्टर के हाथों जबरदस्त तरीके से पिटेगा।

 

भारत के समस्या न्यायविदों और वकीलों से ये अपील करता हूं कि ममता की इस पॉलिसी के खिलाफ अदालत जाएं क्योंकि ये संभव नहीं है, कि कोई व्यक्ति  अल्पसंख्यक होने की स्कीमों का भी लाभ लेता रहे और ओबीसी कैटेगरी का भी लाभ लेता रहे। आप सभी से अपील है कि गंभीरता पूर्वक इस पर विचार करें और कानूनी दरवाजा खटखटाएं

We are not saying that the plan to Islamize the Bengal Police is set to be re-partitioned. Dr. Ambedkar said
OJSS Best website company in jalandhar
Source: INDIA NEWS CENTRE

Leave a comment






11

Latest post